आप का शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान पर तीखा हमला

आप’ के मलविंदर सिंह कंग ने कहा कि पंजाब सरकार चाहती है कि गुरबाणी हर घर पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि एस.जी.पी.सी. प्रधान एक परिवार की गुलामी छोड़ दें और एक परिवार के लिए पंथ को दाव पर न लगाए।

राजेश कोछड़

चंडीगढ़ -विधानसभा में पास किए गुरुद्वारा एक्ट संशोधन बिल के खिलाफ एस.जी.पी.सी. के प्रधान हरजिंदर सिंह धामी के बयान के बाद ‘आप’ ने चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रैंस की है। इस दौरान एसजीपीसी के प्रधान पर तीखा हमला करते हुए ‘आप’ के मलविंदर सिंह कंग ने कहा कि पंजाब सरकार चाहती है कि गुरबाणी हर घर पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि एस.जी.पी.सी. प्रधान एक परिवार की गुलामी छोड़ दें और एक परिवार के लिए पंथ को दाव पर न लगाए। एसजीपीसी एक परिवार की कठपुतली की तरह काम कर रही हैं। इस दौरान ‘आप’ ने यह भी कहा कि एक परिवार के चैनल से गुरबाणी हटाना पंथ के लिए कैसा खतरा है? इस दौरान ‘आप’ ने कहा कि जब पंजाब सरकार को चुना गया था तो क्या इस दौरान सिखों ने वोटिंग नहीं की थी, फिर सिखों पर हमला कैसे कर सकते हैं। धामी के एस.जी.सी.पी. को हथियाने के बयान पर मलविंदर कंग ने कहा कि पंजाब सरकार किसी पर कोई कब्जा नहीं कर रही है। बता दें विधानसभा में पास किए गुरुद्वारा एक्ट संशोधन बिल के खिलाफ इजलास बुलाया गया है। इस दौरान धामी ने कहा कि सिख पंथ पर हमला किया जा रहा है। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान हरजिंदर धामी ने इजलास में कहा कि एस.जी.पी.सी. का इतिहास 103 वर्ष पुराना है। एस.जी.पी.सी. जमहूरी कमेटी है। उन्होंने कहा कि 1925 के एक्ट में सरकार को संशोधन करने का कोई अधिकार नहीं है। सरकार धार्मिक ताकत हथियाना चाहती है। सी.एम. मान पुरातन पिरतां भूल गए हैं। सरकारी दखलअंदाजी बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *