इंडी गठबंधन ने बिहार में मुस्लिम तुष्टिकरण का काम किया है, इसको रोका ना गया तो सीमांत क्षेत्र के अंदर बहुत बड़ी दिक्कत आने वाली है: अमित शाह

पलटूराम नीतीश कुमार नेहमेशा बिहार की जनता के जनादेश का अपमान किया है।
 
वरिष्ठ पत्रकार राजेश कोछड़ 
मुजफ्फरनगर-केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता अमित शाह ने बिहार के मुजफ्फरपुर में एक विशाल रैली को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कश्मीर से लेकर राम मंदिर तक का जिक्र किया। इस मौके पर नीतीश कुमार को ‘पलटूराम’ का दर्जा देते हुए शाह ने स्पष्ट किया कि, इंडी  गठबंधन ने बिहार में मुस्लिम तुष्टिकरण काकाम किया है, इसको रोका ना गया तो सीमांत क्षेत्र के अंदरबहुत बड़ी दिक्कत आने वाली है। शाह ने छठ मैया से भी प्रार्थना की कि, बिहार जंगलराज और पलटूराम से मुक्त हो। बिहार की जनता यह जान चुकी है कि, बिहार में जाति आधारित गणना की रिपोर्ट एक छलावा है। तुष्टिकरण की राजनीति के तहत यादवों और मुस्लिमों की आबादी को बढ़ाकर दिखाई गई और अति पिछड़े समाज की संख्या को काफी कम दिखाया गया है। अति पिछड़े समाज के साथ लालू-नीतीश की जोड़ी नेधोखा किया है। बिहार सरकार का यह जातिगत सर्वे तुष्टिकरण से प्रेरित है, इसमें बिहार के अति-पिछड़ों के साथ अन्याय हुआ है।पलटूराम नीतीश कुमार नेहमेशा बिहार की जनता के जनादेश का अपमान किया है। पलटूराम ने प्रधानमंत्री बनने के लिए बिहार की जनता को धोखा दिया है। नीतीश कुमार ने जिस लालू की खिलाफत कर राजनीतिक और जीत दर्ज की आज उसी के साथ गलबहियाँ कर रहे हैं। कौन नहीं जानता कि ये परिवार की दुकान चलाने वाले लोग हैं। एक को प्रधानमंत्री तो दूसरे को मुख्यमंत्री बननाहै। जैसे तेल और पानी एक साथ नहीं रह सकता वैसे नीतीश और लालू का गठबंधन भी नहीं चलपाएगा। भ्रष्टाचार का विरोध करने वाले नीतीश कुमार आज भ्रष्टाचारियों के साथ मिलकर सत्ता का सुख भोग रहे हैं।बीते 9 सालों में प्रधानमंत्रीनरेन्द्र मोदी की अगुआई और केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह के कुशल प्रबंधनमें पिछड़े समाज का कल्याण हुआ है। मोदी जी के मंत्रिमंडल में 27 मंत्री ओबीसी समाजसे है। 35% से ज्यादा ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने का काम मोदी-शाह की जोड़ीने किया। लालू जी 10 सालों तक यूपीए सरकार में थे लेकिन पिछड़े वर्ग को संवैधानिक मान्यतानहीं दे पाए।पूरा बिहार आज गैंगवारका अड्डा बना हुआ है। अपहरण की घटनाएँ आम हो गई हैं। बिहार में 10 लाख नौकरी देनेका वादा करने वाली सरकार रोजगार के लिए लड़ रहे युवकों की रैली पर लाठी चार्ज करकेअपना असली चेहरा दिखा रही है। अमृतकाल में यह तय है कि मोदी जी के नेतृत्व और अमितशाह के मार्गदर्शन में भाजपा की डबल इंजन सरकार ही बिहार को सुरक्षित रख सकती है। देश की जनता ने तो यह भीदेखा है कि, लालू, नीतीश औरकांग्रेस सहित पूरा विपक्ष राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को लटकाते, भटकाते और अटकाते रहे, लेकिन मोदी जी ने राम मंदिरका भूमि पूजन कर दिया और अब 22 जनवरी, 2024 को रामलला काप्राण प्रतिष्ठा करने वाले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *