एक दिन में बनाए गए आयुष्मान लाभार्थियों के 600 से अधिक पीवीसी कार्ड

सर्वेश शुक्ला ब्यूरो प्रभारी लखनऊ मंडल

लखीमपुर खीरी। जिले में एक ही दिन में 600 से अधिक आधुनिक पीवीसी कार्ड बनाए गए। इसका शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वाराणसी से आयुष्मान लाभार्थियों को पीवीसी कार्ड वितरण कर किया गया था। जिसका सजीव प्रसारण स्वास्थ्य विभाग द्वारा जनपद की सभी ग्राम पंचायतों में दिखाया गया। वहीं एसीएमओ डॉ बीसी पंत द्वारा कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर बेहजम में एक कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों को पीवीसी कार्ड की विस्तृत जानकारी दी गई। जल्द ही इन्हें आयुष्मान कार्ड लाभार्थियों तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एसीएमओ डॉ बीसी पंत बताया कि प्रधानमंत्री भारत सरकार द्वारा वाराणसी में आयुष्मान लाभार्थियों को पीवीसी कार्ड वितरण का शुभारंभ शुक्रवार को किया गया। इस अवसर पर जनपद लखीमपुर खीरी के सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन पर आशा, आशा संगिनी, एएनएम, पंचायत सहायक ,आयुष्मान मित्र द्वारा संबंधित क्षेत्र के जनसमूह को प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम का सजीव प्रसारण दिखाया गया व लाभार्थियों के 600 से अधिक गोल्डन कार्ड बनाए गए। उपस्थित जनसमूह को आयुष्मान भारत योजना से मिलने वाले लाभ के विषय में अवगत कराया गया।आयुष्मान योजना अंतर्गत पात्र लाभार्थी को 5 लाख रुपए तक का निशुल्क उपचार भर्ती होने की दशा में शासन द्वारा उपलब्ध कराया जाता है। इस योजना में 14 सौ से अधिक बीमारियां सम्मिलित है। जनपद लखीमपुर खीरी में योजना अंतर्गत 15 निजी चिकित्सालय क्रमशः सलूजा नर्सिंग होम, सर्जन नर्सिंग होम, आयुष नर्सिंग होम, अनुपम नर्सिंग होम, चंद्रानी हॉस्पिटल, रघुनाथ हॉस्पिटल, मोहन आई केयर, टंडन आई हॉस्पिटल, उमा प्रभा नेत्रालय, डॉ श्रॉफ आई हॉस्पिटल, वन बीट दशमेश चैरिटेबल हॉस्पिटल, शिवलोक हॉस्पिटल, नाइस नर्सिंग होम, एसएस हॉस्पिटल, एसके मजूमदार हॉस्पिटल सम्मिलित हैं। सभी 15 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला चिकित्सालय पुरुष एवं जिला चिकित्सालय महिला योजना अंतर्गत सूचीबद्ध हैं।जनपद लखीमपुर में 26000 से अधिक लाभार्थी आयुष्मान योजना अंतर्गत उपचार प्राप्त कर चुके हैं व 6.5 लाख से ज्यादा गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं। बेहजम में करनपुर ग्राम सभा में
इस अवसर पर एसीएमओ डॉ बीसी पंत सहित अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेहजम डॉ अनिल वर्मा, संतोष शुक्ला, आयुष्मान कार्यक्रम के जिला समन्वयक डॉ. अक्षत अग्रवाल , जिला शिकायत प्रबंधक अनुज प्रताप सिंह, आयुष्मान मित्र, प्रशांत पांडे, आशा सहित बड़ी संख्या में आयुष्मान लाभार्थी उपस्थित रहे ।

क्या है पीवीसी कार्ड का लाभ

पीवीसी कार्ड का उद्देश्य लाभार्थियों को असुविधा से बचाने हेतु है किया जा रहा है चूंकि यह प्लास्टिक की तरह का होता है। इसलिए यह गलता, फटता नही है, गंदा नहीं होता है व इसका रखरखाव ज्यादा आसान है। यह पर्स में आसानी से रखा जा सकता है इसीलिए इसे आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *