ग्रामीणों के लिए बस सुविधा शुरू की जाए: दुष्यंत चौटाला

कहा ,स्कूल-कॉलेज की छात्राओं को संस्थान तक करवाएं वाहन की सुविधा

कहा ,स्कूल-कॉलेज की छात्राओं को संस्थान तक करवाएं वाहन की सुविधा

मोहित कोछड़

चंडीगढ़ – हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जींद और चरखी दादरी जिला के ग्रामीणों को उनके गांव से लेकर कस्बा-शहर तक रोड़वेज की बसों की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। विद्यार्थियों, विशेषकर छात्राओं के लिए भी उनके गांव से शैक्षणिक-संस्थान तक बसों के माध्यम से आने -जाने की व्यवस्था की जानी चाहिए। इसके अलावा , उचाना बस स्टैंड के नवीनीकरण एवं चरखी दादरी में नए बस स्टैंड के लिए भी कार्रवाई के निर्देश दिए।
डिप्टी सीएम आज यहां हरियाणा रोड़वेज के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस अवसर पर ट्रांसपोर्ट विभाग के प्रधान सचिव श्री नवदीप सिंह विर्क समेत अन्य आला अधिकारी उपस्थित थे।दुष्यंत चौटाला ने कहा कि वे हाल ही में जींद तथा चरखी दादरी जिला के विभिन्न गांवों का दौरा कर जनसमस्याएं सुन रहे थे। इस दौरान लोगों ने उनके सामने गांवों में बसों की कमी से अवगत करवाया था।

उपमुख्यमंत्री को आज की मीटिंग में रोड़वेज विभाग के अधिकारियों ने जानकारी दी कि विभाग द्वारा जल्द ही नई बसें खरीदी जा रही हैं और रोड़वेज की बसों में ऐसा डिवाइस लगाया जाएगा जिससे यह पता चल जाएगा कि रोड़वेज या मान्यता प्राप्त बस अपने निर्धारित रुट पर गई है या नहीं ? उन्होंने यह भी बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा अपने घर से दूर पढ़ने के लिए जाने वाली लड़कियों को फ्री में बस-सुविधा देने की भी योजना है, लेकिन इसके लिए शिक्षा विभाग से सूची मिलने के बाद बसों के रुट निर्धारित किये जाते हैं।

दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जींद तथा चरखी दादरी जिला के उन सभी गांवों में रोड़वेज की बसों का प्रबंध किया जाए जिन गांव में जरूरत है। उन्होंने स्कूल- कॉलेज में पढ़ने वाली लड़कियों के लिए प्राथमिकता के आधार पर बसों की व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने कहा कि गांव से बाहर पढ़ने के लिए जाने वाले विद्यार्थियों के लिए कम से कम सुबह -शाम संस्थानों के समय अनुसार बसों की व्यवस्था अवश्य की जाए।
डिप्टी सीएम ने रोड़वेज के अधिकारियों को उचाना तथा चरखी दादरी में नया बस -स्टैंड बनाने के संबंध में भी चर्चा की। उन्होंने बताया कि दादरी का पुराना बस-स्टेण्ड शहर की भीड़ से घिर गया है, वहां तक बसों को आने-जाने में परेशानी होती है और जाम में भी बसें फंस जाती है। यही नहीं दुर्घटना होने का अंदेशा भी बना रहता है।

दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को नए बस -स्टैंड का निर्माण करने के लिए शहर से बाहर उचित जगह पर जमीन तलाशने के निर्देश देते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए बस सुविधा और दादरी शहर में नए बस -स्टैंड के निर्माण को प्राथमिकता के आधार पर लिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *