जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग में 16 महीनों के दौरान आईं शिकायतों में से 98 प्रतिशत का निपटारा : जिम्पा

मोहित कोछड़ 
चंडीगढ़-
जल सप्लाई और सेनिटेशन मंत्री ब्रम शंकर जिम्पा ने जानकारी दी है कि विभाग में 16 महीनों के दौरान आईं शिकायतों में से 98 प्रतिशत से भी ज़्यादा का निपटारा किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व अधीन राज्य के गाँवों में साफ़ पीने वाला पानी मुहैया करवाना सरकार की पहल है और इस मकसद के लिए जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग पूरी तनदेही और शिद्दत के साथ काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि गाँवों को साफ़-सुथरा और कूड़ा मुक्त रखने के लिए भी बहुत सी योजनाओं पर काम हो रहा है।

जिम्पा ने बताया कि विभाग की तरफ से जारी टोल फ्री नंबर 1800-180-2468 पर यदि किसी गाँव वासी या पंचायत की तरफ से पानी सप्लाई, आर. ओ. प्लांट, सिवरेज या निजी शौचालयों सम्बन्धी शिकायत मिलती है तो उसका समाधान सम्बन्धी अधिकारी की तरफ से समयबद्ध तरीके साथ किया जाता है। इस नंबर पर 16 मार्च, 2022 से लेकर 18 जुलाई, 2023 तक 24 हज़ार 277 शिकायतें दर्ज की गई हैं, जिनमें से 23 हज़ार 918 शिकायतों का निपटारा किया जा चुका है। शिकायतों का निपटारा करने की यह दर 98.52 प्रतिशत बनती है।

उन्होंने बताया कि शिकायत का निपटारा होने के बाद शिकायतकर्ता से फीडबैक भी लिया जाता है और यदि वह शिकायत के समाधान से संतुष्ट नहीं तो उसकी शिकायत पर दोबारा योग्य कार्यवाही की जाती है। मंत्री ने कहा कि पंजाब के गाँव वासियों को साफ़ पीने योग्य पानी और उचित सिवरेज की सुविधा देने के लिए भगवंत मान के नेतृत्व वाली सरकार पूरे यत्न कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में बाढ़ की स्थिति के बावजूद प्रभावित लोगों तक वैकल्पिक प्रबंधों के द्वारा साफ़ पीने योग्य पानी की व्यवस्था की गई और जो जल सप्लाई स्कीमें इस दौरान प्रभावित हुई थीं उनमें से ज़्यादातर की रिपेयर करके कार्यशील कर दी गई हैं।

जिम्पा ने अपील की कि कोई भी गाँव वासी जल सप्लाई और सेनिटेशन सम्बन्धी किसी भी प्रकार की शिकायत या सुझाव सम्बन्धी अपने विचार बिना किसी झिझक के पेश करे। इसका समाधान निकालने के लिए वह वचनबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार लोगों की भलाई और जीवन स्तर ऊँचा उठाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी।

फोटो कैप्शनः जल सप्लाई और सेनिटेशन मंत्री ब्रम शंकर जिम्पा विभाग के प्रमुख सचिव डी के तिवारी, विभाग प्रमुख मुहम्मद इशफाक और अन्य अधिकारियों से जानकारी हासिल करते हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *