जालसाजों के हाथ लगा पढ़ा लिखा युवक

नौकरी के नाम पर शिक्षक ने पांच लाख रुपए किया गबन

कृष्ण कुमार तिवारी ब्यूरो चीफ अंबेडकर नगर

अम्बेडकर नगर जिले के थाना राजेसुल्तानपुर अन्तर्गत ग्राम पंचायत मुबारकपुर पिकार निवासी युवक को नौकरी दिलाने का झांसा देकर 5 लाख रुपए की मांग की गई नकद रुपए की व्यवस्था न होने पर पीड़ित के पिता से जमीन बैनामा करवा लिए जालसाजो ने और वर्षो से पीड़ित को दो धोखेबाजों के यहां चक्कर लगा रहा है । पीड़ित परिवार को न तो नौकरी मिली और घर की जमीन भी जलसाजो ने लिखवा लिया मजे की बात यह है कि नौकरी के नाम पर 5लाख रुपए की मांग करने वाले और पीड़ित की जमीन बैनामा करवाने वाले दो अध्यापक हैं जो शिक्षक जैसे पद को कलंकित कर रहे हैं। पीड़ित परिवार न्याय के लिए मुख्यमंत्री,सीएम हेल्पलाइन 1076, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, उपजिलाधिकारी, तहसील दिवस पर शिकायत पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है । परन्तु गंभीर घटना पर भी प्रशासन की तरफ से अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। नौकरी के नाम पर जालसाजी करने वाले दो शिक्षको में एक लक्ष्मीकांत ने तो यहां तक हिम्मत कर डाली कि तहसीलदार कोर्ट में लक्ष्मीकांत ने फर्जी अप्लीकेशन देकर कागज में अपने को स्व. रुपई राम का पुत्र होने का दावा कर दिया जिसकी जानकारी जब प्रार्थी के परिवार को हुई तो पूरा परिवार अवाक रह गया। पीड़ित अनुसूचित जाति से चमार जाति का है पीड़ित 2019 में बी.एड. करके रोजगार की तलाश में था । इसी बीच प्रार्थी की मुलाकात जून 2021 में लक्ष्मीकांत पुत्र जयराम निवासी ग्राम शंकरपुर धरमपुर थाना राजेसुल्तानपुर जनपद अंबेडकरनगर व सूर्यभान पुत्र राम बिहारी विश्वकर्मा निवासी ग्राम इंदौरपुर उर्फ घिनहापुर सिद्धनाथ थाना राजेसुल्तानपुर जनपद अम्बेडकर नगर से हुई दोनों व्यक्ति आपस में मित्र है तथा प्राइमरी स्कूल में अध्यापक पद पर कार्यरत हैं। आपसी बातचीत के दौरान सूर्यभान विश्वकर्मा ने कहा कि अध्यापक भर्ती की शेष सूची आने वाली है हम लोगों की पकड़ ऊपर तक है किसी को प्राइमरी में।नौकरी करनी हो वह हम लोगों से संपर्क कर सकता है। पीड़ित ने कहा हम भी बी.एड.पास हैं।हमारा ही करवा दीजिए तब सूर्यभान व लक्ष्मीकांत ने कहा कि माह अगस्त तक 5 लाख रुपये की व्यवस्था करो हम लोग तुम्हारी नौकरी प्राइमरी में मास्टर पद पर लगवा देंगे ।पीड़ित ने अपने परिवार में उक्त बात की चर्चा किया सभी लोग तैयार हो गए परंतु माह अगस्त 2021 तक पैसे की व्यवस्था न हो सकी।पीड़ित के पिता पैसे की व्यवस्था हेतु खेत बेचने को तैयार हो गए। खेत बेचने की जानकारी सूर्यभान वी लक्ष्मीकांत को हुई तो सूर्यभान ने कहा कि आप अपना खेत हमें बेच दो हम आपकी नौकरी लगवा देंगे। पीड़ित के पिता ने बेटे के उज्जवल भविष्य के लिए खेत की बिक्री उक्त दोनों के पक्ष में करने हेतु तैयार हो गए । चूंकि पीड़ित के पिता अनूसूचित जाति के व्यक्ति हैं इसलिए सरकारी मास्टर लक्ष्मीकांत पुत्र जयराम अनुसूचित जाति के होने के कारण उनके पक्ष में दिनांक 25/08/2021 को गाटा संख्या 147, .063 हेक्टेयर का वैनामा करा दिया। इसके बाद से प्रार्थी को नौकरी देने के नाम पर सालों तक दौड़ाया गया थक हारकर पीड़ित ने जब नौकरी नहीं मिली तब खेत के बैनामा का पैसा मांगा तो सरकारी मास्टर सूर्यभान विश्वकर्मा पुत्र राम बिहारी ने मां बहन जातिसूचक शब्दों की गाली देते हुए कहा कि तुम्हारी जमीन का बैनामा हम लोग करवा चुके हैं खारिज दाखिल भी करवा लेंगे और बहुत दौड़ धूप करोगे तो
जान से हाथ धोना।पड़ सकता है। पीड़ित ने न्याय पाने के लिए शासन प्रशासन से गुहार लगाई है जिसपर प्रशासन की आंख कब खुलती है यह तो भविष्य के गर्भ में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *