ड्राइविंग लाइसेंस धारक के लिए खुलेंगे रोजगार के अवसर

राजेश कोछड़

चंडीगढ़ – श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ,पलवल उत्तर भारत की सबसे बड़ी लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी स्थापित करेगा। इस एकेडमी में हर साल लगभग 3000 युवाओं को लॉजिस्टिक हब के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। इस परियोजना में टीवीएस लॉजिस्टिक कंपनी श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की भागीदार होगी। आज टीवीएस लॉजिस्टिक कंपनी के प्रतिनिधिमंडल ने पलवल में विश्वविद्यालय परिसर का दौरा किया और एकेडमी की स्थापना पर कुलपति डॉ. राज नेहरू के साथ बैठक की।इस बैठक में टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के रीजनल चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर ऋषि दीवान और जोनल जनरल मैनेजर धीरज शर्मा शामिल थे। लॉजिस्टिक क्षेत्र में कुशल कामगारों की मांग को देखते हुए श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी स्थापित करने का निर्णय लिया है।कुलपति डॉ. राज नेहरू ने कहा कि यह रोजगार का बहुत तेजी से उभरता क्षेत्र है। लॉजिस्टिक क्षेत्र में ट्रेंड लोगों की कमी है। इस एकेडमी के माध्यम से लॉजिस्टिक कंपनियों के लिए बड़ी संख्या में युवाओं को ट्रेंड किया जा सकेगा। कुलपति डॉ. राज नेहरू ने बताया कि इस एकेडमी के माध्यम से आठवीं और दसवीं पास उन युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे, जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस हैं। उन्हें लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी में प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए लॉजिस्टिक सेक्टर की जरूरत के हिसाब से कोर्स डिजाइन किया जाएगा। इसमें लॉजिस्टिक क्रेन ऑपरेटर के जॉब रोल के साथ-साथ अन्य माल वाहक वाहनों को ऑपरेट करने की ट्रेनिंग होगी। कुलपति डॉ. राज नेहरू ने कहा कि लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी में ट्रेनिंग करने वाले युवाओं को टीवीएस लॉजिस्टिक्स में रोजगार के अवसर मिलेंगे। सालाना लगभग दो लाख रुपए के पैकेज से यह शुरुआत होगी।कुलपति डॉ. राज नेहरू ने बताया कि जल्दी ही श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय और टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस कंपनी के बीच एक एमओयू होगा। इसके माध्यम से प्रशिक्षण लेने वाले युवाओं की प्लेसमेंट का रास्ता साफ हो जाएगा। इसके अलावा दूसरी लॉजिस्टिक्स कंपनियों को भी इस लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी के माध्यम से कुशल कामगार ऑपरेटर मिल पाएंगे। कुलपति डॉ. राज नेहरू ने कहा कि इससे एनसीआर के जिलों के साथ-साथ प्रदेश के दूसरे जिलों के युवाओं को भी रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के रीजनल चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर ऋषि दीवान ने कहा कि श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय अलग-अलग स्किल जोड़ रहा है। इसी कड़ी में लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी अपने आप में एक नया अध्याय होगा। इसके माध्यम से युवा शक्ति को प्रशिक्षित करके उसकी ऊर्जा का देश हित में सदुपयोग होगा। ऋषि दीवान ने कहा कि विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की यह लॉजिस्टिक स्किल एकेडमी इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने में काफी मददगार साबित होगी। लॉजिस्टिक के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर बड़ी स्पर्धा है और इसमें आगे निकलने के लिए हमें स्किल की बहुत ज्यादा आवश्यकता है। श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रहा है। इससे देश में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *