दक्षिण अफ़्रीका की बस्ती में जहरीली गैस फैलने से 24 लोगों की मौत

संवाददाता आदित्य सैनी

जोहानिसबर्ग के पास बोक्सबर्ग शहर में एक सिलेंडर से जहरीली गैस का रिसाव होने से तीन बच्चों सहित कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई। दक्षिण अफ्रीका की पुलिस ने यह जानकारी दी। आपातकालीन सेवाओं के अनुसार शुरूआत में 16 लोगों की जान गयी लेकिन बाद में ये संख्या 24 हो गयी।एकुरहुलेनी नगर पालिका के प्रवक्ता विलियम नटलडी ने कहा कि अधिकारी अभी भी घटनास्थल पर और पीड़ितों की तलाश कर रहे हैं।

👉🏻दक्षिण अफ्रीका गैस रिसाव से 24 लोगों की मौत

बुधवार रात दक्षिण अफ्रीका के बोक्सबर्ग शहर में एंजेलो अनौपचारिक बस्ती में संदिग्ध गैस के कारण 24 लोगों की जान चली गई। दक्षिण अफ़्रीकी ऑनलाइन समाचार पत्र टाइम्स लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, ज़मा-ज़मा, जो अनौपचारिक बस्ती में एक झोंपड़ी से काम करते हैं, के बारे में कहा गया था कि एक गैस सिलेंडर लीक हो गया था जिससे नाइट्रिक ऑक्साइड फैल गया था।

दक्षिण अफ्रीका की पुलिस ने बुधवार को बताया कि हादसा जोहानिसबर्ग के पूर्वी इलाके में बोक्सबर्ग शहर में एक बस्ती में हुआ। आपातकालीन सेवाओं के प्रवक्ता विलियम नतलाडी ने बताया कि एंजेलो बस्ती में एक झोपड़ी में रखे गैस सिलेंडर से रिसाव के कारण यह हादसा हुआ। रिसाव अब बंद हो गया है और बचाव कर्मी घटनास्थल पर हताहतों की तलाश कर रहे हैं।

एनटलैडी के अनुसार, यह स्पष्ट नहीं है कि गैस रिसाव कब शुरू हुआ, लेकिन जब आपातकालीन कर्मचारी लगभग 8 बजे (स्थानीय समय) घटनास्थल पर पहुंचे, तब तक सिलेंडर पहले ही सूख चुका था।

एकुरहुलेनी ईएमएस के एक अन्य अधिकारी ने उस भयानक दृश्य का विवरण प्रदान किया जहां शव बरामद किए गए थे। उन्होंने दावा किया कि पीड़ितों में महिलाएं और बच्चे भी थे, जिनके अवशेष रिसाव के स्रोत से ज्यादा दूर बस्ती के आसपास बिखरे हुए थे।

👉🏻ज़मा-ज़मा लोग कौन हैं?

अधिकारी ने कहा “ज़मा-ज़मा लोग समुदाय के बीच रहते हैं और गैस सिलेंडर का उपयोग करके अपने सोने को साफ और परिष्कृत करते हैं। दुख की बात है कि इस बार गैस सिलेंडर लीक हो गया, जिसके परिणामस्वरूप सो रहे लोगों का दम घुट गया। जो लोग जाग रहे थे, उन्होंने भागने की कोशिश की लेकिन धुएं के कारण उनकी मौत हो गई। वे बहुत ज़्यादा नंगे थे।

इस बीच, स्थानीय मेट्रो पुलिस विभाग के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि शुरुआती कॉल केवल विस्फोट के बारे में रिपोर्ट करने के लिए थी। उन्होंने कहा, “आगे की जांच के बाद ही यह कहा जा सका कि यह विस्फोट नहीं था, गैस रिसाव हुआ था।”

अधिकारी ने कहा, ‘‘ शव घटनास्थल और उसके आसपास पड़े हैं।’’ उन्होंने बताया कि जांचकर्ता और विशेषज्ञ घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं। बोक्सबर्ग में पिछले वर्ष क्रिसमस की पूर्व संध्या पर तरलीकृत पेट्रोलियम गैसले जा रहे एक ट्रक के पुल के नीचे फंस जाने और विस्फोट होने से 41 लोगों की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *