दीपोत्सव की तैयारी को लेकर कुलपति ने घाटों का किया निरीक्षण

दीपोत्सव ने अयोध्या को विश्व पटल पर एक नई पहचान दिलाईः कुलपति प्रो0 प्रतिभा गोयल

अयोध्या। अयोध्या के प्रान्तीयकृत दीपोत्सव को लेकर डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो0 प्रतिभा गोयल ने सातवें दीपोत्सव की तैयारियों को लेकर बुधवार शाम राम की पैड़ी के घाटों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय दीपोत्सव नोडल अधिकारी प्रो0 संत शरण मिश्र, उप-कुलसचिव दिनेश कुमार मौर्य सहित अन्य पदाधिकारियों के साथ कुलपति ने घाटों पर बिछाये गए दीए के पैटर्न को देखा और वालंटियर्स, घाट प्रभारी व समन्वयकों का उत्साहवर्धन किया। इसके साथ ही उन्होंने दीपोत्सव को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किया। कुलपति प्रो0 गोयल ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अयोध्या दीपोत्सव ने विश्व पटल पर अमिट छाप छोड़ी है। इस दिन दुनियां की निगाहें अयोध्या पर टिकी होती है। निश्चित ही सांतवा दीपोत्सव भव्यता के साथ और अधिक एतिहासिक बनेगा। कुलपति ने बताया कि शासन के 21 लाख दीए जलाने के लक्ष्य के सापेक्ष विश्वविद्यालय, सम्बद्ध महाविद्यालयों, इण्टर कालेजों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के 25 हजार वालंटियर्स द्वारा 24 लाख से अधिक दीए 51 घाटों पर बिछाये जा रहे है। प्रभु श्रीराम की कृपा से निश्चित ही पिछला रिकार्ड टूटेगा और पुनः विश्व रिकार्ड बनायेंगे। विवि मीडिया प्रभारी डाॅ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी ने बताया कि 11 नवम्बर को होने वाले दीपोत्सव को लेकर वालंटियर्स में उत्साह है। जिला प्रशासन के समन्वय से अंतिम रूप दिया जा रहा है। निश्चित ही पिछला रिकार्ड तोड़ते हुए गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *