दीपोत्सव जैसे आयोजनों की वजह से आज अयोध्या विश्व पयर्टन के मानचित्र पर स्थापित हो गयी है: सांसद लल्लू सिंह

अयोध्या। आम जनता की सहभागिता के साथ भाजपा इस बार दीपोत्सव को व्यापक रुप देने की तैयारियों में जुटी है। अयोध्या के सभी मठमंदिरों, नगर के निगम के मोहल्लों, धर्मिक स्थलों व चिन्हित चौराहे पर दीपोत्सव पर दीपक जलायें जायेंगें। जिसको लेकर भाजपा कार्यालय में आयोजित बैठक में पदाधिकारियां व कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियों सौपीं गई है।बैठक में सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि मोक्षदायिनी सप्तपुरियों में एक नगरी अयोध्या का नाम आते ही आध्यात्म व मर्यादा परिवेश में घुल जाती है। रामराज्य परिकल्पना अयोध्या निकल पर वैश्विक स्तर पर परिभाषित हुई है। दीपोत्सव जैसे आयोजनों की वजह से आज अयोध्या विश्व पयर्टन के मानचित्र पर स्थापित हो गयी है। इस बार दीपोत्सव का स्वरुप पिछली बार से काफी बेहतर रहने वाला है। पिछले वर्षो की तरह से चौराहों पर दीपक जलायें जायेंगें। त्रेतायुग में अयोध्या आने पर जिस प्रकार यहां की जनता ने भगवान राम का स्वागत किया था उसी स्वरुप में यह महोत्सव मनाया जायेगा।
महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव ने बताया कि दीपोत्सव के लिए महानगर के 1019 स्थलों का चयन किया गया है। जिसमें धार्मिक स्थल, प्रमुख चौराहे व गलियां शामिल है। भाजपा कार्यकताओं द्वारा चयनित स्थलों पर स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। रंगोली बनाई जाएगी। सायंकाल दीपकों से स्थल को प्रकाशित किया जाएगा। जिसकी तैयारियों को लेकर पदाधिकारियों व कार्यकताओं जिम्मेदारियां सौपीं गई।
युवा मोर्चा के प्रदेश महामंत्री हर्षवर्धन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में लागू कर रहे है। आने वाले पांच सालों में अयोध्या विश्व की सर्वोत्तम आध्यात्मिक नगरी के रुप में दिखाई देगी।बैठक में शैलेन्द्र कोरी, परमानंद मिश्र, रामकुमार सिंह राजू, रणधीर सिंह डब्लू, आलोक द्विवेदी, रवि सोनकर, बालकृष्ण वैश्य, नंद कुमार सिंह, दिव्य प्रकाश तिवारी सहित अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *