धनतेरस पर गुरुग्राम को मिली 109.14 करोड़ रुपए की लागत से तैयार अंडरपास की सौगात

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एसपीआर को गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड से जोड़ने वाले वाटिका अंडरपास का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री ने उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेशवासियों को दी धनतेरस की बधाई

वरिष्ठ पत्रकार राजेश कोछड़ 
चंडीगढ़– हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने गुरुग्राम में ढांचागत तंत्र को विस्तार देते हुए  वाटिका चौक पर नवनिर्मित अंडरपास का उद्घाटन किया। गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण (जीएमडीए) द्वारा भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के माध्यम से 109.14 करोड़ रुपए की लागत से तैयार 0.822 किमी लंबे इस अंडरपास के आरंभ होने से सदर्न पेरिफेरल रोड से गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड के बीच यातायात सुगम होगा तथा गुरुग्राम-बादशाहपुर मार्ग पर वाटिका चौक रेड लाइट पर भी वाहनों का दबाव कम होगा। मुख्यमंत्री ने वाटिका चौक अंडरपास का मंच से रिमोट दबाकर उद्घाटन पट्टिका का अनावरण किया और रिबन काटकर यातायात के लिए इस परियोजना को जनता को समर्पित किया।

मनोहर लाल ने उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेशवासियों को धनतेरस के शुभ अवसर की बधाई दी। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम एक आइकोनिक सिटी है, जिसके विकास को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार व हरियाणा सरकार के दिशा निर्देशन में एनएचएआई, गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण, नगर निगम व लोक निर्माण विभाग आपसी समन्वय स्थापित कर विकास कार्यों को पूरी तत्परता के साथ धरातल पर फलीभूत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम के विकास के सफर में गुरुग्रामवासियों का भी निरन्तर सहयोग मिल रहा है।

गुरुग्राम में पिछले 9 वर्ष में बने 16 अंडरपास व 15 फ्लाईओवर

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में करवाए गए गुरुग्राम के विकास का उल्लेख करते हुए कहा कि निर्धारित समय अवधि से पूर्व व तय बजट में निर्मित यह वाटिका चौक का अंडरपास गुरुग्राम के विकास को नई गति प्रदान करेगा। उन्होंने पिछली सरकारों और वर्तमान सरकार की कार्यशैली में अंतर पर बोलते हुए कहा कि वर्ष 2014 से पूर्व गुरुग्राम जिला में कोई अंडरपास नहीं था जबकि पिछले 9 वर्षों में गुरुग्राम में कुल 16 अंडरपास का निर्माण किया गया है। इससे लोगों के समय व ईंधन दोनों की बचत हो रही है। इसी प्रकार मुख्यमंत्री ने गुरुग्राम में फ्लाईओवर (रेलवे ओवर ब्रिज सहित) के आंकड़े प्रस्तुत करते हुए कहा कि वर्ष 2014 से पहले गुरुग्राम में कुल 8 फ्लाईओवर थे। वहीं अब इनकी संख्या 24 हो गयी है।

गुरुग्राम में सडक़ों के विकास के लिए 1747 करोड़ रुपए बजट

मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में सड़कों पर लोगों का आवागमन सुगम हो व ट्रैफिक अपनी निर्बाध गति से आगे बढ़े, इसके लिए विभिन्न परियोजनाओं का धरातल पर क्रियान्वयन जारी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुग्राम में 245 किलोमीटर लंबी कुल 58 परियोजनाएं हैं, जिनके लिए 1747 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। वहीं इनमें से कई ऐसे प्रोजेक्ट हैं, जिन पर या तो काम पूरा हो चुका है या कार्य अभी प्रगति पर है। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम में विकास कार्य निरन्तर प्रगति पर हैं जिसके चलते  विभिन्न स्थानों पर पानी का नेचुरल फ्लो रुक जाता है। ऐसे में गुरुग्राम में सीवरेज व ड्रेनेज जैसे महत्वपूर्ण कार्यो के लिए भी 10 बड़ी परियोजनाओं पर करीब 1027 करोड़ की राशि खर्च की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केएमपी के आसपास नए नगरों की जो योजना हरियाणा सरकार ने बनाई है उस पर भी कार्य आगे बढ़ रहा है। आने वाले पांच सालों में दुनिया का एक बहुत बड़ा शहर, ग्लोबल सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। जिस पर जल्दी ही ऑक्शन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

उद्धघाटन समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि पिछले 9 वर्षो में केंद्र सरकार व हरियाणा सरकार ने गुरुग्राम में जो इंफ्रा तैयार किया है, उससे आमजन के जीवन रोजाना बेहतर हो रहा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व का ही परिणाम है कि आज गुरुग्राम में विभिन्न कार्यों के माध्यम से विकास को एक नई गति प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में गुरुग्राम के सर्वागीण विकास के लिए सड़कों, फ्लाईओवर व अंडरपास का ऐसा जाल बिछाया गया है कि आज गुरुग्राम में जाम जैसी कोई स्थिति नहीं है।

इस अवसर पर पटौदी के विधायक सत्यप्रकाश जरावता, सोहना के विधायक संजय सिंह, मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल एडवाइजर अर्बन डेवलपमेंट डीएस ढेसी, पूर्व मंत्री राव नरबीर सिंह, जीएमडीए के सीईओ पीसी मीणा, डीसी निशांत कुमार यादव सहित अन्य अधिकारी व विशिष्टजन कार्यक्रम में मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *