धानक रुप रहा करतार_संत रामपाल जी

कबीर पंथी जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी का सत्संग सम्पन्न।

लखनऊ सुपरफास्ट ब्यूरो लखीमपुर खीरी
रविवार को लखीमपुर खीरी के सहदेवा में कबीर पंथी जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी का सत्संग सम्पन्न हुआ जिसमे मोहम्मदी के गांव गांव से भगत आत्मा सपरिवार सत्संग में शामिल हुए।
सत्संग प्रवचन में जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी ने बताया कि श्री गुरुग्रंथ साहिब पृष्ठ नं. 721 राग तिलंग महला 1 में लिखा है कि हे ( हक्का कबीर) आप सत् कबीर (कून करतार ) शब्द शक्ति से रचना करने वाले शब्द स्वरुपी प्रभु अर्थात सर्व सृष्टि के रचनहार हो , आप ही बेएब निर्विकार (परवरदिगार ) सर्व के पालन कर्ता दयालु प्रभु हो , मै आपके दासो का दास हूं आगे श्री गुरुग्रंथ साहिब पृष्ठ नं. 24 राग सीरी महला 1) में लिखा है कि उपरोक्त अमृतवाणी में प्रमाण किया है कि जो काशी में धानक (जुलाहा) है यही (करतार ) कुल का सृजनहार है । अति आधीन होकर श्री नानक साहेब जी कह रहे हैं कि मैं सत कह रहा हुं यह धानक अर्थात कबीर जुलाहा ही पूर्ण ब्रह्म (सतपुरूष) है
जिला कार्डिनेटर रवि कुमार वर्मा ने बताया कि जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज का सत्संग प्रति रविवार भारत के सभी राज्यों में, नेपाल, अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, कुवैत , पाकिस्तान आदि मे संत रामपाल जी के सत्संग प्रवचन होते हैं और सत्संग प्रवचन में उस क्षेत्र के अनुयाई सपरिवार भाग लेते हैं और संत रामपाल जी के करोड़ों अनुयाई दहेज लेनदेन, नशा, चोरी, व्यभिचार, घूसखोरी , जाती पाती आदि को त्यागकर सुखमय जीवन यापन कर रहे हैं।
जिला लखीमपुर खीरी में हजारों परिवार संत रामपाल जी के बताए नियमों पर चलकर दहेज़ लेनदेन, घूसखोरी, नशा, चोरी, ठगी, पाखंडवाद आदि को त्यागकर सुखमय जीवन यापन कर रहे हैं।
और संत रामपाल जी के ज्ञान से सम्बन्धित जानकारी के लिए ज्ञानगंगा, जीने की राह प्राप्त करने के लिए 8193819381 पर मेसेज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *