मितौली खीरी। परम विद्वान आचार्यों द्वारा कराए गए विभिन्न प्रकार के संस्कार

मितौली खीरी।
क्षेत्र के ग्राम कैमा निमचेनी स्थित विद्यालय प्रांगण में चल रहे विराट 5 कुंडीय नवचेतना जागरण गायत्री महायज्ञ एवं प्रज्ञा पुराण कथा को श्रवण कर श्रद्धालु भक्त भाव विभोर हो गए। साथ ही विद्वान आचार्यों द्वारा विभन्न प्रकार के संस्कार संस्कार कराए गए जैसे पुंसवन संस्कार ,विद्यारम्भ,नामकरण संस्कार ,व अन्नप्राशन आदि संस्कार मंत्रोच्चारण के साथ कराए गए। विराट 5 कुंडीय नवचेतना जागरण गायत्री महायज्ञ के तीसरे और चौथे दिन भी हर रोज की तरह सुबह कई पारियों में श्रद्धालु भक्तों ने यज्ञ भगवान को आहुतियां प्रदान की गईं। 5 कुंडीय गायत्री महायज्ञ एवं प्रज्ञा पूराण कथा युग ऋषि वेद मूर्ति तपोनिष्ठ पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य एवं परम बन्दनीया माता भगवती देवी शर्मा के सूक्ष्म संरक्षण व ऋषि तंत्र के मार्गदर्शन में मानव मात्र को विश्वव्यापी संकटों से उबारने एवं सही रास्ते पर चलने का सन्मार्ग मिल सके। इसी मंगलमय उद्देश को लेकर गांव में 5 कुंडीय गायत्री महा यज्ञ हरिद्वार से आये हुए प्रतिष्टित विद्वान आचार्यों द्वारा कराई गई। इसमें अपनी अपनी श्रद्धा ,भावना व निष्ठा जोड़ते हुए यज्ञ भगवान से मंगलमय प्रार्थना के साथ आहुतियां समर्पित की गईं। तथा शाम की बेला में दीप यज्ञ कराई गई ।शांतिकुंज से आए हुए परम विद्वान आचार्यों ने अपने मुखारविंद से श्री प्रज्ञा पुराण की कथा सुना कर सभी भक्तों को भाव विभोर कर दिया। दीप यज्ञ में रंगोली प्रतियोगिता में भाग लेने वाले बच्चों में प्रथम स्थान पाने वाली एलिस वर्मा,एवं द्वतीय स्थान पे रहे ओम वर्मा व तृतीय स्थान पर रहीं उपासना एवं शिखा वर्मा। इन बच्चों को निर्णायक टीम द्वारा पुरुस्कृत किया गया ।सुबह 5 नवम्बर को गायत्री महायज्ञ के बाद विशाल भंडारे के साथ टोली विदाई का कार्यक्रम किया गया।इस अवसर पर कैमा निमचेनी की प्रज्ञा मण्डल के सभी कार्यकर्ताओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *