रात भर भोजपुरी गीत पर लोग झूम से थिरके।

लखनऊ सुपरफास्ट ब्यूरो लखीमपुर खीरी।
भोजपुरी कार्यक्रम लोगों के दिलों पर अपनी छाप छोड़ गया। राधा श्रीवास्तव तथा अमित रंजन श्रीवास्तव के गाए गए भोजपुरी गीत रात भर लोगों को झूम से थिरकने पर मजबूर करते रहे। रात करीब नौ बजे दशहरा मेला के सांस्कृतिक मंच पर शुरू हुआ यह कार्यक्रम तीन बजे तक चला। पियवा मिलल बा सराबी व गोरिया चांद के अंजोरिया जैसे गीत भोजपुरी गीतों के प्रेमियों को रात भर उल्लास से भरते रहे। कार्यक्रम की शुरुआत मंच पर दीप प्रज्ज्वलन से हुई, जब नगर पालिका परिषद अध्यक्ष डा.इरा श्रीवास्तव के साथ ईओ संजय कुमार व मुख्य अतिथि शहर के सुप्रसिद्ध अधिवक्ता प्रीतम सिंह बग्गा ने दीप प्रज्ज्वलन करके कार्यक्रम की शुरुआत की।  शहर के सुप्रसिद्ध संचालक राममोहन गुप्त के संचालन में विशिष्ट सहयोगी सम्मान मधुर टंडन, पूनम यादव, अटल बिहारी राय, मृगांक शेखर को दिया गया। कार्यक्रम में बतौर संयोजक दीपक रस्तोगी, बजरंग शर्मा, राकेश कुमार,पारस मौर्य व कौशल तिवारी मौजूद रहे।  इसके बाद शुरू हुई भोजपुरी गीतों की जुगलबंदी की शुरुआत, बजरंगबली के भजन से हुई,कलाकार राधा श्रीवास्तव ने बजरंगबली का क्या कहना, गाया तो पूरा पंडाल जयकारों से गूंज गया। फिर शुरू हुआ गीतों का सिलसिला जिसमें राधा श्रीवास्तव की ओर से गाए गए गीत चटनियां ए सईयां सिलवट पे पीसी , केकरा पे करी बिस्वास, जगतिया में कोई न अपना , जैसे गीत श्रोताओं को मंत्र मुक्त करते रहे। राधा श्रीवास्तव के बाद अमित रंजन श्रीवास्तव ने गोरिया चांद के अंजोरिया, गाया तो पंडाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज गया।  नीक लागे टिकुलिया गोरखपुर की जैसे गीत राधा श्रीवास्तव ने गाए तो कुर्सियों पर बैठे श्रोता एक बार खड़े होकर तालियां बजाने पर मजबूर हो गए, फिर अमित श्रीवास्तव के गीत, थोड़ा इंतजार का मजा लीजिए, मेरे रश्के कमर तूने पहली नजर, जैसे गीत भी लोगों को आकर्षित करते रहे। रात के अंतिम पहर तक चले इस कार्यक्रम को देखने के लिए पंडाल के बाहर तक भीड़ मौजूद रही। इस दौरान सभासद विक्रम गुप्ता,अजय गुप्ता, बृजेश पाल, अनिरुद्ध त्रिपाठी, सुरेंद्र पाल समेत नगर पालिका के कर्मचारी भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *