रामगंगा नदी में उफान आने के कारण दर्जन भर ग्रामों के खेतों में पहुंचा बाढ़ का पानी

लखनऊ सुपरफास्ट संवाददाता जयपाल सिंह गोेला

कांठ। वर्षा ऋतु में एक माह में लगभग तीन बार रामगंगा नदी में उफान आने से एक दर्जन से अधिक ग्रामों के खेतों में पानी भर जाने से किसानों की फसल की काफी तबाही हुई है। आधा दर्जन ग्रामों के मार्ग में बाढ़ का पानी आ जाने से मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं।

          मैदानी व पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार वर्षा होने से रामगंगा नदी बीते एक माह में लगभग तीन बार उफ़न चुकी है। हालांकि किसी बांध से पानी छोड़ जाने की कोई खबर नहीं है परंतु इससे पूर्व ही रामगंगा नदी उफन चुकी है। पहले का पानी खेतों में सूखता नहीं है रामगंगा नदी फिर से उत्पन जाती है।

        रामगंगा नदी में उफान आने से रामगंगा नदी के आसपास के ग्रामों में खड़ी गन्ना, मक्का व धान की फसलों में लाखों का नुकसान हुआ है। ग्राम रामसराय, पाइंदापुर, महादूत कलमी, गोपालपुर, राजीपुर खद्दर आदि ग्रामों के रास्ते में पानी आ जाने से मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। इन ग्रामों में पहुंचने के लिए जान जोखिम में डालनी पड़ती है। ग्राम सलेमपुर, महदूत कलमी, गोपालपुर, दरियापुर, हसनगढ़ी, बहादरपुर आदि ग्रामों के ग्रामीणों को रामगंगा नदी में कालागढ़ बांध से पानी छोड़ जाने की चिंता सता रही है।यदि इस प्रकार वर्षा होती रही तो बांध से पानी छोड़ा जा सकता है जिसका खामियाजा ग्रामीणों को उठाना पड़ेगा। ग्रामीणों ने क्षेत्रीय विधायक कमाल अख्तर से उचित मुआवजा दिलाए जाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *