सहायक अध्यापक ने अपनी जगह सरकारी स्कूल में लगाई प्राइवेट टीचर, क्या खुद पूरे महीने की हाजिरी चढ़ाकर उठाते हैं तनख्वाह

कृष्ण कुमार तिवारी ब्यूरो चीफ अम्बेडकरनगर

उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले में एक अजब-गजब मामला सामने आया है. मामला शिक्षा क्षेत्र कटेहरी के टिकरी ग्राम सभा के प्राथमिक विद्यालय का जहां पर मीडिया की पड़ताल में विद्यालय के सभी अध्यापक अनुपस्थित मिले विद्यालय में कार्यरत प्राइवेट अध्यापिका द्वारा प्रशिक्षण कार्य किया जा रहा था मीडिया से वार्ता के दौरान यह पता चला की उसे प्रशिक्षण कार्य की एवज में ₹1500 प्रतिमाह की दर से दिया जा रहा है जिसकी वीडियो मीडिया कर्मियों के कमरे में कैद है अध्यापक गांव में निकले हुए हैं और मौके पर अध्यापन कार्य प्राइवेट कर्मचारी द्वारा किया जा रहा है। कहीं प्राथमिक विद्यालय में यह खेल तो नहीं चल रहा है कि अपने स्थान पर प्राइवेट कर्मचारी रख शिक्षक का कार्य ले रहे हैं महीने में सिर्फ एक दिन स्कूल जाते हैं और पूरे महीने की हाज़िरी चढ़ाकर पूरी तनख्वाह ठसक से उठाते हैं. मजे की बात क्या है जब ग्रामीण क्षेत्रों में 1500 और ₹2000 में प्रशिक्षण कार्य करने के लिए अध्यापक उपलब्ध हो रहे हैं तो सरकारी विद्यालयों में एक लाख रुपये प्रतिमाह देने से सरकार को क्या फायदा यह मीडिया के लोग नहीं रहती यह जनपद की जनता कहते है। इस संदर्भ में बी. एस.ए. भोलेंद्र प्रताप सिंह से भी मीडिया कर्मी ने वार्ता कर अवगत कराया गया, उनके द्वारा यह कहा गया इस मामले की जांच कर उचित कार्यवाही की जाएगी। अब देखना या होगा कि उक्त मामले में जिम्मेदार अधिकारी लीपा पोती कर मामले को रफा दफा तो नहीं कर दिया जाएगा या दोषी व्यक्ति के ऊपर कार्यवाही करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *